दिल्ली के गांधी और पंजाब के बादल परिवार की हकीकत को समझ चुकी जनता : शेखावत

जालंधर/दिल्ली        केंद्रीय जलशक्ति मंत्री और पंजाब में भाजपा के चुनाव प्रभारी गजेंद्र सिंह शेखावत ने गांधी और बादल परिवार पर समेत आम आदमी पार्टी पर जमकर निशाना साधा। शेखावत ने कहा कि पंजाब की जनता दिल्ली के गांधी और यहां के बादल परिवार की हकीकत को समझ चुकी है। झूठे वायदे करने वालों को पहचान चुकी है। पंजाब नए विकल्प की तलाश कर रहा है। रविवार को भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश चुनाव कार्यालय के उद्घाटन अवसर पर केंद्रीय मंत्री ने कहा कि भाजपा का हर कार्यकर्ता उत्साहित है और उन्हें जनता का प्यार मिल रहा है। हम नया इतिहास बनाने का श्रीगणेश इस नए चुनाव कार्यालय से कर चुके हैं। अबकी बार पंजाब में एक नया इतिहास बनने वाला है।

पत्रकारों से रू-ब-रू होते हुए शेखावत ने कहा कि पंजाब की कानून-व्यवस्था पूरी तरह से बिगड़ गई है। माइनिंग, शराब और रेत माफिया हावी है। माफिया राज और नार्को टेरिरज्म बढ़ा है। सामाजिक व्यवस्था को ध्वस्त कर सद्भाव को बिगाड़ने का प्रयास किया गया है। इसके बावजूद कांग्रेस सरकार पंजाब के हालात की जिम्मेदारी लेने की बजाय अहंकार से ग्रसित है। इसी अहंकार के चलते पंजाब की जनता मौजूदा सरकार को नकार चुकी है। शेखावत ने कहा कि दूसरी तरफ एक ऐसी राजनीतिक पार्टी है, जिस पर दिल्ली में भ्रष्टाचार के बहुत दाग लगे हैं। दिल्ली में झूठे वायदे कर जनता को ठगने के बाद यह पार्टी अब पंजाब में झूठे वायदे कर रही है। 

शेखावत ने कहा कि जो किसान कहते थे कि वे राजनीति नहीं करेंगे, उन्होंने अपना सियासी मोर्चा बना लिया। जिन लोगों ने पार्टी बनाई है, नुकसान की चिंता उन्हें करनी चाहिए। जब किसानों का आंदोलन शुरू हुआ था, तब किसान नेताओं ने कहा था कि वे कभी भी राजनीति की तरफ नहीं जाएंगे। बावजूद इसके किसानों ने एकाएक यू-टर्न ले लिया। पंजाब के कांग्रेस प्रधान नवजोत सिंह सिद्धू पर सीधा हमला करते हुए केंद्रीय मंत्री ने कहा कि एक तरफ सिद्धू पाकिस्तान के जनरल बाजवा को गले लगाते हैं। प्रधानमंत्री इमरान खान को झप्पी डालते हैं तो दूसरी तरफ देश की सीमाओं की रक्षा करने वाले सैनिकों, अपने जान की बाजी लगाने वाले शूरवीरों और कानून-व्यवस्था को चुस्त दुरुस्त रखने वाले पुलिस कर्मियों के लिए अभद्र भाषा का प्रयोग करते हैं। 

शेखावत ने कहा कि दिल्ली में बैठा गांधी परिवार और पंजाब का बादल परिवार शासन करता आया है। 1981 में पंजाब नंबर वन जीडीपी वाला प्रदेश था। 2001 आते-आते ये चौथे पायदान पर पहुंच गया। आज पंजाब 16वें पायदान पर पहुंच गया है। जीडीपी ग्रोथ की दृष्टि से अगर बात करें तो पंजाब देश में एक तिहाई ग्रोथ करने वाला प्रदेश है।


बेअदबी की तह तक हो जांच

बेअदबी मामलों पर केंद्रीय मंत्री ने कहा कि पंजाब सरकार से केवल एसजीपीसी ही नहीं, पंजाब की जनता को भी कोई उम्मीद नहीं है, लेकिन इस बात की जांच अवश्य होनी चाहिए कि बेअदबी की घटनाएं चुनाव से पहले ही क्यों होती हैं? पिछले चुनाव के दौरान भी अलग-अलग धर्म और संप्रदाय की धार्मिक भावनाओं को आहत करने के प्रयास किए गए थे। इसकी तह तक जाकर जांच होनी चाहिए। यह जरूर सामने आना चाहिए कि कौन लोग हैं, जो पंजाब के सौहार्द को बिगाड़ कर राजनीतिक लाभ प्राप्त करना चाहते हैं। 


पंजाब सरकार आपसी लड़ाई में व्यस्त

केंद्रीय मंत्री शेखावत ने कहा कि लुधियाना बम ब्लास्ट और बेअदबी की घटनाओं को लेकर समय रहते केंद्रीय एजेंसियों ने पंजाब सरकार को अलर्ट किया था। पुख्ता जानकारी भी दी थी, लेकिन पंजाब की कांग्रेस सरकार आपसी लड़ाई में व्यस्त है। जिस सरकार के मुख्यमंत्री और पार्टी प्रधान इस बात को लेकर लड़ रहे हैं कि चीफ सैक्रेटरी, डीजीपी और एडवोकेट जनरल कौन बनेगा, वह पंजाब की जनता की रक्षा कैसे कर सकती है?