जयपुर के बाद जोधपुर क्रिकेट स्टेडियम का भी बदलेगा स्वरूप, 40 करोड़ में हो रहा हाईटेक, 5 पिच तैयार हुईं

जयपुर के बाद जोधपुर क्रिकेट स्टेडियम का भी बदलेगा स्वरूप, 40 करोड़ में हो रहा हाईटेक, 5 पिच तैयार हुईं


Jodhpur news : जयपुर में आठ साल बाद एसएमएस स्टेडियम में इंटरनेशनल मैच के बाद अब लग रहा है कि जोधपुर के बरकतुल्ला खां स्टेडियम के दिन भी फिरने वाले हैं. इसके कायाकल्प पर 40 करोड़ रुपए खर्च हो रहे हैं. स्टेडियम के मैदान में अन्तर्राष्ट्रीय स्तर की पिच तैयार हो चुकी है. इस स्टेडियम में तीन काली मिट्टी और दो लाल मिट्टी की पांच पिचों का निर्माण हो चुका है.


जोधपुर. बरकतुल्ला खां स्टेडियम (Cricket stadium) करीब 40 करोड़ की लागत से नए स्वरूप में तैयार हो रहा है. इसमें 20 करोड़ राज्य सरकार का हिस्सा है तो 20 करोड़ जोधपुर विकास प्राधिकरण खर्च कर रहा है. यह वही स्टेडियम है, जिस पर दो दशक पहले सचिन तेंदुलकर (Sachin tendulkar) ने कीर्तिमान रचा था.


लंबे समय से जोधपुर के क्रिकेट प्रेमियों को मैच का इंतजार, लगता है जल्द खत्म होने वाला है. जोधपुर के एकमात्र बरकतुल्ला खां स्टेडियम का स्वरूप बदलने का काम तेजी से हो रहा है. डेढ़ साल में करीब 70 फीसदी डेवलपमेंट पूरा हो चुका है. स्टेडियम में ग्राउंड करीब 62 मीटर लंबा रखा गया है. मैदान के बाहर प्रैक्टिस के लिए भी पिच तैयार है. स्टेडियम के साउथ, नॉर्थ और वेस्ट ब्लॉक में नए पवेलियन और वीआईपी बॉक्स, कॉमेंट्री रूम, ब्रॉडकास्टिंग रूम, साउथ ब्लॉक में अम्पायर रूम, अन्तर्राष्ट्रीय स्तर की साज सज्जा और प्रसाधन सुविधाएं, नॉर्थ ब्लॉक में मीडिया रूम, वीआईपी बॉक्स- ग्राउंड फ्लोर पर खिलाड़ियों के हॉल, एन्टी डोपिंग रूम, ग्राउंड फ्लोर पर डाइनिंग एरिया, मेडिकल सेंटर और कैटरिंग व्यवस्था और दर्शकों की सुविधा के लिए करीब 20 हजार आधुनिक कुर्सियों की व्यवस्था होगी.


मखमली घास के साथ ही दो पवेलियन करीब-करीब तैयार मैदान में मखमली घास के साथ ही दो पवेलियन भी करीब-करीब तैयार हो चुके हैं. अब यहां चेयर लगाने का काम चल रहा है. माना जा रहा है कि नए साल पर स्टेडियम पूरी तरह बनकर तैयार हो जाएगा, जिसके बाद यहां कभी भी आईपीएल या अंतरराष्ट्रीय मैच कराए जा सकेंगे. यहां नई तकनीक के वर्ल्ड क्लास चेंजिंग रूम बनाए जा रहे हैं. वहीं लाइव कवरेज के लिए कैमरा स्टैंड भी लगाए गए हैं। ग्राउंड में एलईडी फ्लड लाइट्स भी लगाई जा चुकी हैं.


BCCI की टीम जनवरी में करेगी दौरा, तब मिलेगी क्लीयरेंस स्टेडियम को अंतरराष्ट्रीय मानकों के अनुसार तैयार किया गया है, लेकिन जब तक बीसीसीआई की कमेटी इसके स्तर की जांच नहीं कर लेती तब तक यह तय नहीं हो सकता कि यहां अंतरराष्ट्रीय मैच खेला जा सकेगा या नहीं. बताया जा रहा है कि अगले साल जनवरी में बीसीसीआई की टीम स्टेडियम का दौरा करेगी और देखेगी कि यह अंतर्राष्ट्रीय मैच करवाने के मानकों पर खरा उतरा या नहीं.


गहलोत के प्रयासों से पुराने गौरव को लौटाने की कवायद जोधपुर का बरकतुल्ला खां भारत का 35वां स्टेडियम है, जहां वन डे मैच खेला गया और वन डे इंटरनेशनल होस्ट करने वाला ये देश 31वां ग्राउंड है. इस स्टेडियम का निर्माण 1986 में शुरू होकर 87 में पूरा हुआ था. अब राजस्थान क्रिकेट एसोसिएशन के अध्यक्ष वैभव गहलोत के प्रयासों से इसके पुराने गौरव को फिर से लौटाने की कवायद काफी हद तक मूर्त रूप ले चुकी है.


सचिन ने यहां जिम्बाब्वे के खिलाफ बनाए थे 146 रन


यहां अब तक केवल दो ही अंतरराष्ट्रीय वन-डे मैच खेले गए हैं, जिनमें एक इंडिया-जिम्बाब्वे के बीच था. 2000 में खेला गया ये मैच हालांकि भारत जीत नहीं पाया था, लेकिन सचिन ने यहां 146 रनों की जबरदस्त पारी खेली थी. इस मैच के बाद यहां 21 नवंबर 2002 में एक और वनडे मैच खेला गया. अजीत अगरकर ने 67वें मैच में जोधपुर में अपने करियर का 100वां विकेट लिया. तब ऐसा करने वाले वे भारत के सातवें बॉलर थे. अब फिर से यहां मैच खेले जाने की उम्मीदें तेज हो गई हैं.