सूर्यरेखा (SUEYAREKHA) हिंदी भाषा में डिजिटल मीडिया का एक प्रमुख समाचार स्रोत

जयपुर :- 

"सूर्यरेखा" (SURYAREKHA NEWS PORTAL) हिंदी भाषा में डिजिटल मीडिया का एक प्रमुख समाचार स्रोत है। उत्तर भारत के प्रमुख प्रांत राजस्थान के सीकर(SIKAR) जिले से संचालित होने वाले इस न्यूज़ पोर्टल में शेखावाटी अंचल के साथ-साथ देश-विदेश के समाचार और विचार पर  लेख पोस्ट किए जाते हैं। वर्ष 2002 में "सूर्यरेखा" ने अपनी यात्रा पाक्षिक समाचार पत्र के रूप में आरंभ की थी और पिछले एक वर्ष से यह अपने डिजिटल रूप में शुरू हुआ।

"सूर्यरेखा" देश-विदेश में फैले राजस्थान और विशेष रूप से शेखावाटी अंचल के लोगों में अत्यंत लोकप्रिय हैं। उसे शेखावाटी अंचल के लोग गहरा जुड़ाव पैदा कर चुके हैं।

 संचार के बदलते दौर में "सूर्यरेखा" ने तकनीक का पूरा उपयोग करते हुए अपने पाठकों को सभी ऑनलाइन प्लेटफार्म पर समाचार,विचार एव॔ लेख उपलब्ध कराने के लिए सोशलमीडिया पर अपनी उपस्थिति दर्ज की है। सोशल मीडिया के माध्यम से  "सूर्यरेखा" की लोकप्रियता में निरंतर बढ़ोतरी हो रही है।


"सूर्यरेखा" समाचार पत्र का आरंभ राजस्थान के वरिष्ठ और प्रखर पत्रकार बाल मुकुंद जोशी (JOURNALIST BAL MUKUND JOSHI) ने किया बाल मुकुंद जोशी देश के प्रमुख समाचार पत्रों से "पंजाब केसरी" दैनिक "हिंदुस्तान" से पिछले चार दशक से संबद्ध रहे हैं। वे भारत की प्रमुख समाचार एजेंसी यूएनआई (UNI) और देश के सबसे बड़े लोक प्रसारक आकाशवाणी एआईआर (AIR) को भी अपनी सेवाएं दी है। शेखावाटी अंचल के अलावा राजस्थान की राजधानी जयपुर के पत्रकार जगत में बाल मुकुंद जोशी एक जाना पहचाना नाम है। उनके लिखे समाचार और आलेख प्रामाणिक होने के साथ-साथ विचारोत्तेजक भी होते हैं। उनके लेखन की पिंक सिटी प्रेस क्लब, जयपुर सहित सामाजिक मंचों पर सराहना होती रही है। पत्रकारिता के अलावा सामाजिक क्षेत्र में बाल मुकुंद जोशी का एक विशिष्ट स्थान है। वह कई सामाजिक संस्थाओं से जुड़े रहे हैं और जनहित के कार्यों में सक्रियता से भाग लेते हैं।"सूर्यरेखा" समाचार पोर्टल (SURYAREKHA NEWS PORTAL) के रूप में है। अपने पाठकों को निरंतर जागरूक रखे हुए हैं। इसकी पत्रकारिता सामाजिक सरोकारों से जुड़ी हुई है। समाचार संकलन के लिए "सूर्यरेखा" के पास अपने स्वयं के रिपोर्टर है। इसके अलावा यह पोर्टल समाज, धर्म, राजनीति, साहित्य, खेल, सिनेमा, मनोरंजन,ज्ञान-विज्ञान और शिक्षा जैसे विषयों पर स्वतंत्र लेख लेखकों से आलेख लिखवा कर प्रकाशित करता है। इससे समाज के सभी वर्गों में

"सूर्यरेखा" की पहचान बनी है। युवा, महिलाओं और बुद्धिजीवी इसके नियमित पाठक है। "सूर्यरेखा" पर समाचारों को आकर्षक तरीके से पोस्ट करने के लिए विशेष फोटोग्राफ,कार्टून ग्राफिक और इन इंफोग्राफिक का प्रयोग किया जाता है। "सूर्यरेखा" का एक विशेष पाठक वर्ग है जो देश विदेश में फैला हुआ है। राजस्थान का शेखावाटी अंचल अपने उद्यमशीलता के लिए पूरे विश्व में प्रख्यात है। यहां के लोग विश्व के सभी हिस्सों में बसे हुए हैं और अपने अपने क्षेत्र में सफलता से स्थापित है। खाड़ी देशों और अमेरिका में यहां के वाशिंदे व्यापार और व्यवसाय में सफलता की नए कीर्तिमान बनाए हैं। देश के पारंपरिक औद्योगिक घरानों में से अधिकांश की जड़े शेखावाटी में है। इस अंचल के लोगों की एक प्रमुख विशेषता यह है कि वे अपनी मिट्टी से पूरी तरह जुड़े हुए हैं और सांस्कृतिक रूप से यहां से अपना जुड़ाव बनाए हुए हैं।"सूर्यरेखा" इस जुड़ाव को ओर मजबूत करने की दिशा में एक अत्यंत उपयोगी मंच सिद्ध हो रहा है।


"सूर्यरेखा" समाचार पोर्टल (SURYAREKHA NEWS PORTAL) पर समाचारों का प्रकाशन दिन-रात किया जाता है और इस बात का विशेष ध्यान रखा जाता है कि समाचार भाषा की दृष्टि से पठनीय होने के साथ-साथ पूरी तरह प्रामाणिक हो। इसके लिए एक विशेष टीम निरंतर कार्य करती है। इस पोर्टल पर देश-विदेश के समाचार, आलेख प्रसारित और प्रकाशित किए जाते हैं तथा तुरंत ही उन्हें "सूर्यरेखा" से जुड़े सोशल मीडिया प्लेटफार्म पर पोस्ट भी किया जाता है।